Loading ...
Sorry, an error occurred while loading the content.

2570Shimla

Expand Messages
  • RBagga
    Jun 25, 2009

      बूढ़ा था जवान हो गया गेयटी थियेटर

       
      Jun 24, 08:59 pm
      शिमला [राजेश शर्मा]। मैं गवाह हूं गोरे हुक्मरानों के फरमानों और आजादी के अरमानों का। मुझे याद है, अनुपम खेर और मनोहर सिंह के अभिनय में यहीं निखार आया। कभी यहां शेक्सपीयर के पात्र हंसाते-रुलाते थे। यहीं तो 'गदर' फिल्म की 'सकीना' की एक फरमाइश पर ट्रक ड्राइवर 'तारा' झूम उठा था.. मैं शिमला की पहचान रहा हूं। मैं गेयटी हूं..। '
      यातना गृह से रंगमंच का सफर तय करने वाला शिमला का ऐतिहासिक गेयटी थियेटर गुरुवार से फिर मनोरंजन के लिए तैयार हो गया है। इसके साथ ही मशहूर अदाकारा जेनीफर कपूर का सपना भी पूरा हो जाएगा। जेनीफर चाहती थी कि गेयटी अपना स्वरूप न खो दे। उनकी मौत के बाद उनके पति अभिनेता शशि कपूर ने हिमाचल सरकार को गेयटी के जीर्णाेद्धार का सुझाव दिया जिसके बीस वर्ष बाद सरकार ने इसके जीर्णाेद्धार का काम शुरू करवाया। काम उन्हीं आर्किटेक्ट वेद सेगेन की देखरेख में हुआ, जिन्होंने मुंबई के मशहूर पृथ्वी थियेटर का जीर्णाेद्धार करवाया।
      ब्रिटिश शासन में 1887 में गेयटी थियेटर बना था। अंग्रेजों ने इस इमारत को मनोरंजन स्थल के रूप में तो इस्तेमाल किया ही, साथ ही इसके भूतल में हिंदुस्तानी बंदियों को यातनाएं दी जाती थी। बनने के बीस साल बाद ही इसकी ऊपर की कई मंजिलें धराशायी हो गई। ऊपर की मंजिलें गिरने के बाद 64 फुट ऊंचा भवन सिर्फ 32 फुट का रह गया। अब इसकी ऊंचाई पहले जैसी होगी।
      थियेटर के मुख्यहाल का मंच कई कलाकारों के हुनर में निखार का गवाह रहा है। अभिनेता मनोहर सिंह, नसीरूद्दीन शाह और अनुपम खेर ने भी यहीं पर अभिनय की बारीकियां सीखीं। बलराज साहनी और अमरीश पुरी जैसे मंजे हुए कलाकार भी कई बार यहां नाटकों का मंचन करते थे। अंग्रेजी शासनकाल में यहां शेक्सपीयर के नाटकों का मंचन होता था और अंग्रेज महिलाएं यहां बाल डांस करती थी। मशहूर फिल्म गदर-एक प्रेम कथा के 'मैं निकला गड्डी लेकर.. ' गाने को भी यहीं पर फिल्माया गया। इसके अलावा यहां हजारों नाटकों का मंचन हो चुका है। संगीत, कला, संस्कृति से जुड़े कई आयोजन यहां हुए हैं।
      हिमाचल के मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल इस इमारत का जीर्णोद्वार होने के बाद गुरुवार को लोकार्पण करने जा रहे हैं। ललित कला अकादमी नई दिल्ली के अध्यक्ष अशोक वाजपेयी समारोह की अध्यक्षता करेंगे। भाषा संस्कृति विभाग के निदेशक प्रेम शर्मा ने बताया कि एक सप्ताह तक गेयटी महोत्सव का आयोजन किया जाएगा।


      Make your browsing faster, safer, and easier with the new Internet Explorer® 8. Optimized for Yahoo! Get it Now for Free!
    • Show all 25 messages in this topic